Guava cultivation in India | अमरूद की खेती से जुडी दिलचस्प जानकारी?

By | 24th July 2019
Guava cultivation
https://agriculturetech.online/guava-cultivation-in-india/

Introduction of guava | हिंदी में अमरूद अंग्रेजी में guava कहते है। जानकारी ये है के अमरुद भारत में 17वीं शताब्दी में लाया गया। इसके पौधों को भारत की जलवायु इतनी भा गयी के ये यहाँ अच्छी तरह से घुल मिल गया। नतीजन आज भारत में guava cultivation सफलता पूर्वक  की जाती है। वैसे तो इसकी बाग़वानी भारत में हर जगह की जाती है। किंतु उत्तर प्रदेश अच्छी किस्म और गुणवत्ता के मामले में बहुत आगे है। ख़ास तोर पे इलाहाबाद का अमरुद बहुत अधिक अच्छा और गुणों में उत्तम होने के कारण विदेशों में भी अपनी पहचान बन चुका है। 

Guava cultivation in India | अमरूद की खेती से जुडी दिलचस्प जानकारी?

मेरे कुछ भाई कोई भी खेती करने से पहले उसके बारें में जानकारी इकट्ठा करना पसंद करते जोकि एक बहुत अच्छी नित्ति है । तो उनकी बातों को ध्यान में रखते हुए सबसे पहले हम अमरुद की खेती से हमें कितना लाभ होगा यही जान लेते । 

1. Is guava cultivation profitable?

Yes, अमरूद की खेती बहुत बढ़िया मुनाफ़ा देने वाली बाग़वानी है । साल में एक पूरी तरह से तैयार वृक्ष से 100 किलो तक अमरूद मिल जाते है । अगर आपके पास 100 अमरूद के पेड़ है, तो 100 किलो पर पेड़ के हिसाब से हुए 100 क्विंटल अमरूद । अगर हम 100 क्विंटल अमरूद को 100 रुपये किलो के भाव में देखे तो हो गए 10,000किलो ×100रुपये = 10 लाख रुपये । तो भाई लोगो कितना खर्च आएगा 2 लाख भी आ जाये तो भी इतना बड़ा मुनाफा कम नही होता है । तो भाई में तो यही कहता हूं अपने मित्र प्यारों को हर बार के युवा खेती छोड़ रहे है । वो भी किसान के बेटे । खेती विश्व का सबसे बेहतरीन व्यापार है, अगर इसको सूझ-बूझ और विज्ञान के अनुसार किया जाए ।

तो भाई ये तो थी मुनाफ़े की बात जो आपने जान भी ली और दिमाग में बैठा भी ली । तो अब मैं कहना चाहूँगा के अमरूद की बाग़बानी करने से पहले आप अपने क्षेत्र के नज़दीकी कृषि विज्ञान केंद्र से ज़रूर सलाह लें । 

2. In which season does Amrud grow?

कुछ मेरे भाई पूछते है किस सीजन में अमरूद अच्छी बढ़त करे है? तो भाई सुन लो ध्यान ते अमरूद साल में 2 से 3 बारी फल देवे है और सबसे बेहतर सुंदर वजन वाला फल आवे है जाडों के मौसम मैं। वैसे तो गर्मियों में भी फल कम नही आता पर अच्छी quality नही मिलती फल स्वाद नही होता खाने में, वजन भी कम हो वे है, पर अमरूद के अंदर छिपे हुए गुण कम नई होते । बहुत सारी ख़ूबियाँ है इस अमरूद में करेंगे बात उनके बारे में भी आगे चलके । तो भाई हमने जान लिया कि अमरूद के फल कौन से season में बेहतर बढ़त करें है । 

3. How long does it take for a guava tree to bear fruit?

तो एक भाई ने पुछ्या है के अमरूद के पेड़ पे फल लगने कितने दिन में शुरू हो जाते है? तो इसका जवाब न्यू है । भाई फल तो देखो पौधे के खेत में लगने के पहले साल ते ही आने start होजा पर उनको पेड़ से तोड़ देते है जब वो फूल के रूप में हो या कलि के रूप में ताकि पेड़ को और अधिक ताकत मिल जावे क्योंकि फल अगर होने दिए तो वो पौधे की बढ़त को रोकते है ।

ऐसा करने से पौधा कम बढेगा और अगले बारी फल भी कम देगा तंदरुस्त होने में टाइम ज्यादा ले सकता है । इसलिए सही तरह से फल तो 3 साल के पेड़ पे ही आवे है पर आप चिंता न करो ऐसा नुक्शा बतावेगे 2 साल से ही फल लेलियों पेड़ ते । तो भाई आपने जान ही लिया के अमरूद के पेड़ पे फल कितने दिन में लगने शुरू हो जाते है । 

4. Where does guava grow in India?

इसने नयु पुछ्या के भारत में अमरूद कहां उगता है? तो मेरे प्यारे भाई भारत में अमरूद के पोधे कहीं भी उग सके है, ये हर तरह की मिट्टी में अपनी पकड़ बना लेवे है और हर तरह के मौसम झेल लेवे है । इसको तो 6.7 PH से ऊपर वाली मिट्टी भी बड़ी भावे है । बस दल दलि इलाके में इसके कम चांस रहते है के टिकेगा के नही । क्योंकि मिट्टी दलदली होने के कारण जड़ें पकड़ नही कर पाती और जड़ें गल भी जाति है । तो भाई ईब आप जान गे के भारत में अमरूद कहाँ उगे है ।

5. How do you feed a guava tree?

यहाँ नयू पुछां गया है के अमरुद के पोधे को खाना यानी पोषक तत्व कब देने चाहिए? तो मेरे प्यारे किसान भाइयों अगर अमरुद की बागवानी(guava cultivation) करनी है तो ये बात जाननी बहुत जरूरी है। अमरुद के पोधे को जो भी खुराक देनी है, दो भागो में बाट कर देनी है। साल में दो बार देनी सही रहती है। ऐसा आप फल लेने के बाद कर सकते है। जैसे की आपने पोधे से एक बार फल ले लिये तो अगले फल अच्छे और जयादा लेने के लिए खुराक देनी चाहिए। तो ये तो थी खुराक देने की सही समय अवधि।

6. What is the best fertilizer for guava tree?

यहाँ मेरे भाई ने जानना चाहा है के अमरुद के लिए सबसे अच्छा fertilizer यानी रसायनिक खाद कौन सी है? तो मेरे प्यारे किसान भाइयों ये बात बहुत जरूरी है के आपको पता होना चहिये रसायनिक खाद हो या देसी खाद उनके फायदें है या नुक्सान। मैं आपको कभी भी रसायनिक खाद डालने की सलाह नही दूंगा। रसायनिक खाद ने हमारी आने वाली नस्ल को बहुत कुम्जोर बना दिया है। धरती का नाश कर दिया है, और आज समाज में कैंसर जैसी बड़ी बीमारियाँ इन्ही की वजह से फ़ैल रही है। तो भाई आप समझ गये हैं की कौन सी खाद डालनी सही रहेगी।

7. When I should I prune my guava tree?

मेरे भाई ने यहाँ बहुत अच्छा सवाल किया है? पुच्छ्या है के अमरुद के पेड़ की छांट-कांट कब करनी चाहिए। किसान भाइयों सबसे जरूरी है फल लेने के लिए छांट-कांट करना तो इसका सही समय रहता है फल लेने के बाद। ज्यादा गर्मी के मोसम में कभी भी ये काम ना करें क्यूंकि गर्मी से छोटा पेड़ सुख सकता है। तो आप जाना गये की पेड़ की छांट-कांट कब करनी है।

जरूर पढ़े:-

8. How often should I water my guava tree?

मुझे अपने अमरूद के पेड़ को कितनी बार पानी देना चाहिए? ये सवाल किया है एक भाई ने। तो सुनलो अर समझ लो । जहाँ आप रहते हो वहां की मिटटी खुश्क है के नमी वाली है पानी देनी की बात इसी पे निर्भर करती है। अगर मिटटी खुश्क है तो पानी ज्यदा लगता है। गर्मी के मोसम में पानी 7 से 15 दिन के फर्क में देना है यही सर्दियों में महीने में एक बार में बदल जाता है। अगर आपने गमले में कोई पोधा लगाया है तो वो आपके गमले के आकार के हिसाब से पानी की मांग करेगा उसमे हर दिन भी पानी आ सकता है और एक या दो दिन छोड कर भी आ सकता है। तो भाई ये थी पानी कितनी बार और कब देना चाहिए।

Conclusion | निष्कर्ष

मेरे प्यारे किसान भाइयों मैंने पूरी कोशिश की है Guava cultivation in India | अमरूद की खेती के जरूरी सवाल जवाब? को सही तरिके से आप तक पहुंचाने की तो उम्मीद करता हूँ। आप मेरी मेहनत को जरूर पसंद करेंगे।

आपसे एक छोटी सी बिनती है। अगर आपको जानकारी अच्छी लगी हो तो मेरे दूसरे किसान भाइयों तक जरूर पहुँचाईयों इसने ज्यादा से ज्यादा शेयर करके। Facebook | Twitter | Linked in | Whatsapp

2 thoughts on “Guava cultivation in India | अमरूद की खेती से जुडी दिलचस्प जानकारी?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *