Bunching Onion Farming

By | 15th March 2019
bunching onion
https://agriculturetech.online/bunching-onion-farming/

Bunching onion Farming| क्या है बंचिंग प्याज | कितना लाभ होता है Bunching Onion Farming | कैसे किसान इसकी खेती कर सकते है | कहाँ से बीज मिलेगा | कितनी पैदावार होगी | बस यही सब जानने के लिए आप इस जानकारी को पूरा पढ़ें ।

“ये वेबसाइट किसानों को खेती में हो रहे नवीनीकरण तकनीकी विकास के बारे में जानकारी प्रदान करती है । हम कोई विशेषज्ञ नही है । हमारा प्रयास सिर्फ किसान को जागरूक करने का है । ताकि भारत का किसान किसी भी क्षेत्र में पिछे न रहें”

BUNCHING ONION Farming?

bunching onion
onion leaves

ONION मतलब प्याज किसान प्याज की खेती तो करते ही है । लेकिन ये प्याज की ऐसी किस्म है जिसकी पत्तियां होती है उसके नीचें बनने वाली गांठ बंचिंग प्याज में नही होती । इसे किसान एक बार खेत में लगा कर 12 महीने तक पतियाँ ले सकते है ।

कैसा रहा भारतीय किसान का इतिहास जरूर जाने

Advantages | लाभ

  1. ये एक हरि पत्तियों के रूप में प्राप्त होने वाली सब्जी है ।
  2. जिसके बाजार में काफी अच्छे दाम मिलते है ।
  3. Bunching onion एक बार रोपने के बाद 12 महीने तक पैदावार देती है ।
  4. इसमे किसी किस्म का रोग नही लगता ।
  5. ये बहुत कम सिंचाई लेती है ।
  6. साधारण प्याज के मुक़ाबले इमें कम खर्च आता है ।
  7. इसका बीज किसान खुद तैयार कर सकते है ।
  8. Bunching onion को आप कहीं भी ऊगा सकते है जैसे कि घर की छत पे, गमले में, कियारी में, खेत में,
  9. इसको उगाने में किसी विशेष प्रकार के ज्ञान लेने की आवश्यकता नही होती ।
  10. 12 महीने में आप 10 बार फसल ले सकते है ।

स्टीविया की खेती से 10 लाख का मुनाफा

कैसे करें बंचिंग प्याज की खेती

साधारण प्याज और बंचिंग प्याज में सिर्फ गांठ का फर्क है जो इसको विशेष बनाता है । बंचिंग प्याज की खेती बिल्कुल वैसे ही कि जाती जैसे साधारण प्याज की । तय की गई भूमि क्षेत्र में गोबर की खाद या कम्पोस्ट खाद डाल कर मिट्टी को उपजाऊ बना ले या फिर आप हरि खाद का भी उपयोग कर सकते है ।

Climate | जलवायु

Bunching Onion | इसकी खेती के लिए सभी किस्म की जलवायु अनुकूलित है। ये पौधा हर तरह के मौसम को झेल सकता है। खाने में इसका स्वाद भी गजब का होता है। ये आयरन से भरपूर होता है।

बीज की मात्रा:

onion bunching
onion seeds

एक हैक्टेयर के लिए किसान भाई 8 किलोग्राम बीज का प्रयोग करें । नर्सरी तैयार करके पौध के रूप में पोधों को प्राप्त करें । इसके लिए बीज दिल्ली पूसा कृषि विज्ञानं केंद्र उपलब्ध करा रहा है।

कृषि क्षेत्र में Drone के उपयोग और लाभों को जाने

भनाइ :

खेत को अच्छी तरह से ट्रेक्टर की मदद से भनाइ करके मिट्टी को पूरी तरह से नरम बना ले । अब खेत में मेंढे बना लें एक फ़ीट की दूरी रखें मेंढ से मेंढ की

रोपाई : Transplant

अक्टूबर के महीने में तैयार की गई मेंढ़ों पर वैज्ञानिक विधि को अपना कर 10” से 10” इंच की दूरी पर पौधे की रोपाई करें । रोपाई करने के बाद तुरंत पानी से सिंचाई कर दें ताकि पौधे जल्द ही जड़ पकड़ लें ।

Irrigation | सिंचाई bunching onion

सिंचाई पहली बार तब करें जब रोपाई की गई हो । दूसरी सिंचाई अधिक गर्मी होने पर 7 दिन और कम गर्मी में 15 दिन के अंतराल पे करें । सर्दियों में जरूरत पड़ने पर हल्की सी सिंचाई करें । ध्यान रखें खेत में ज्यादा समय तक पानी इकठा न रहें ।

उपज :

bunching onion
onion

पहली उपज यानी फसल आप को थोड़े ज्यादा समय मैं प्राप्त होती है । क्योंकि पौधे को जड़ पकड़ने में थोड़ा समय लगता है । उसके बाद आप 40 या 45 दिन में बाद फसल प्राप्त करतें रहें । साल भर मे किसान भाई एक हैक्टेयर से 200 किवंटल तक पतियाँ प्राप्त कर सकतें है । जिनको गठड बना कर आसानी से बाजार में बेच सकते है ।

अगर 200 क्विंटल पैदावार और 50 रुपये किलो के भाव के हिसाब से देखा जाए तो ।

1 किलो 50 रुपये

1 क्विंटल 5000 रुपये

200 क्विंटल 5000 x 200 = 10,00,000 रुपये ।

यानी के बहुत कम खर्च होने के बाद दस लाख रुपये की आमदनी ।

Cautions | सावधानियां

  1. खेत में रोपाई श्याम के वक़्त करें ताकि सिंचाई के वक़्त धूप का असर न हो ।
  2. पौधे की उचित दूरी बनाए रखें ।
  3. किसी भी प्रकार के रसायन का प्रयोग न करें ।
  4. जैविक विधि से फसल की देख रेख करें ।
  5. समय समय पर सिंचाई करें ।

Conclusion | निष्कर्ष :

Bunching onion | के बारे में यहां दी गयी जानकारी आपको किसी लगी जरूर बातये ।

“आपसे एक छोटी सी गुजारिश है | अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी तो दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें Facebook | Twitter | Whatsapp माध्यम से”

खेती क्या है जाने कुछ रोचक बातें

One thought on “Bunching Onion Farming

  1. Pingback: Kesari Movie Review In Cinema Bollywood Movie kesari

Leave a Reply